Malfoozat_wa_Iqtebasat_Yusuf_Hindi zoom

Hover

malfoozat_iqtesabat_yusuf_H_1 zoom

Hover

malfoozat_iqtesabat_yusuf_H_2 zoom

Hover

malfoozat_iqtesabat_yusuf_H_3 zoom

Hover

Malfoozat_wa_Iqtebasat_Yusuf_Hindi
malfoozat_iqtesabat_yusuf_H_1
malfoozat_iqtesabat_yusuf_H_2
malfoozat_iqtesabat_yusuf_H_3

Malfoozat wa Iqtesabaat Hazrat Maulana M. YUSUF (Rah) | Hindi

by: Mufti Roshan Shah Qasmi

70.00

In stock

Add to Wishlist
Add to Wishlist
Spread the word

अल्लाह वालों के अक़वाल-ओ-इरशादात और उनके मलफुज़ात आज भी मुरदा दिलो को ज़िन्दा करने की तासीर रखते हैं। उनके मलफुज़ात पढ़कर और सुनकर ख़ुदा और उसके रसूल (सल0) की मुहब्बत में इज़ाफा होता है, सहाबा (रजि0) की मुहब्बत दिल में मोजज़न होती है, अमाले स्वालेह का जज़बा बेदार हो कर आखिरत का यक़ीन ताज़ा होता है, आखिरत की फिकर सारी फिक़रों पर ग़ालिब आ जाती है।

इन बुज़ुर्गो के इरशादात के ज़रिये न सिर्फ ये कि क़ुरान ओ हदीस के बहुत से मारिफ-ओ-हक़ाएक खुलते हैं, बलके तबलीग़ी जद्दो जहद के मुनाफे और फायदे सामने आते हैं, अल्लाह के कलीमे और दीन को बुलंद करने की दिल में उमंग पैदा होती है।

Specifications

Product Code: ID5400
Weight: 0.26 kg
Binding: Paperback
Publisher: Idara Impex
Publication Date: 2019
No. of Pages: 142
Dimensions: 21.5 x 14.5 cm
Language: Hindi
ISBN: 9386345404